humsafer

जो उड़ाते थे मेरे सफर का मजाक रफ्ता रफ्ता मेरे हमसफर हो गए

humsafer

जिंदगी की राहों में मिलेंगे तुम्हें हजारों हमसफर लेकिन उम्र भर भूल ना पाओगे वह  मुलाकात हु मैं

humsafer

बस सफर हमारा है, बाकी सफर के हिस्से है, जो साथ चले वो हमसफर, जो छुट गए वो किस्से है।

humsafer

हम नादां थे जो उन्हें हमसफ़र समझ बैठे, वो चलते थे मेरे साथ पर किसी और की तलाश में.

मिल गया होगा कोई गज़ब का हमसफ़र, वरना मेरा यार यूं बदलने वाला तो ना था।

humsafer

जिंदगी की राहों में मुस्कुराते रहो हमेशा उदास दिलों को हमदर्द तो मिलते हैं हमसफर नहीं

humsafer

Humsafer Shayari

Read More